Information on Diwali in Marathi | Diwali 2017 Wallpapers, Quotes, Status, DP, Tips, Wishes

Information on Diwali in Marathi

By
Advertisement

हमारे देश मे अनेक त्योहर मानये जाते है| उंमे दीपावली की शान भी निराळी है| ये पर्व सभी परवो का राजा है| ये प्रकाश का पर्व है| ये कार्तिक मास की अमावस्या को मानया जाता है|
दीपावली के बरे मे काइ मेनियेटये प्रचलित है| इसका संबंध भगवान राम के लंका विजय से संबंधित है|  भगवान राम चोडह वर्ष के बनवस के बाद अयोध्या लौते ते| भगवान राम के अयोध्या आगमन पार अयोध्यावसियो ने हार जगह हार कोणे मे दीए जलकर रोषने कारके आपणा आनंद एवं हर्ष प्रकट किया| ए दिन कार्तिक माज़ की अमावस्या का दिन ता| तब से लेकर आज ताक ये त्योहर हार वर्ष मानया जाता है| धीरे धीरे इस पर्व ने दीपावली के त्योहर का रूप ले लिया| एक मान्यता दीपावली के त्योहर के बरे मे ये भी है की युधिष्तीर के राजसूय याग्या के पूर्णाहूती की खुशी मे इस त्योहर की शुर्ुअत हुई ती| जैन समुडये के लोग इस दिन को भगवान महावीर के निर्माण-दिवस के रूप मे भी मानते है|
दीपावली के कूच दिन पेहले ही इस त्योहर की तैइयरिया शुरू हो जाती है| सभी लोग अपने अपने घरो की सॉफ सफाई करते है| घरो की पुटाई व सजावट की जाती है| लोग अपने लिये नये नये कपडे खाृडते है| महइलये नये नये गाहणे खारडत्ी है| सभी घरो मे पकवं बनये जाते है| बच्चे फुलझादिया वा पतखे चलते हैं|
दीपावली का त्योहर - धंटेरस से भैईयडूज ताक पांच डिनो का होता है| पांचो दिन खूब धूम धाम रेहती है| घर के दारवाझो पार ताझा आम के पटतो के तोरं बांधे जाते है| आंगण व प्रवेशद्वार पार रांगोळी बनाई जाती है| गली मोहल्लो मे पटाखो की आवाझे गूंजणे लागती है| दीपावली अमावस्या की रात को होती है| इस शुभ आवसार पार लक्ष्मी जी व गणेश जी की पूजा की जाती है टाकी घरो मे सुख व सअमरद्धी बनी राहे|

See Also : Information on Diwali in Kannada

0 comments:

Post a Comment